ताज़ा तरीन

आज़ादी वी‌डियो

क्या देश की शिक्षा व्यवस्था अबतक के सबसे बुरे दौर से गुजर रही है? क्या ऐसा नीति निर्माताओं की बुरी न...
देश में सभी छात्रों को गुणवत्ता युक्त शिक्षा आसानी से, पड़ोस में और कम खर्च में प्राप्त हो सके, अफोर...

public polocies सार्वजनिक नीति

आज़ादी ब्लॉग

Wednesday, September 26, 2018
हमारी मांग स्कूलों और शिक्षकों की सुरक्षा के लिए कानून भारत में, शिक्षा हमेशा व्यक्तियों और समुदाय के स्वैच्छिक प्रयासों के माध्यम...
Tuesday, August 14, 2018
पढ़े-लिखे बेरोजगारों की विशाल फौज को देखकर लोग अनायास ही कह देते हैं कि शिक्षा को 'रोजगार परक' बनाया जाना चाहिए। उनका तात्पर्य यह ह...
Tuesday, August 07, 2018
यह अच्छा हुआ कि प्रधानमंत्री ने लखनऊ में उद्योगपतियों के बीच यह कहा कि वह उनके साथ खड़े होने में डरते नहीं। इसी के साथ उन्होंने यह...
Sunday, July 22, 2018
नेताजी का मन उदास था। रह रहकर कुछ अजीब सी 'फीलिंग' हो रही थी। चलते मॉनसून सत्र में उनका काम में मन नहीं लग रहा था। इलाके के लोगों...
Thursday, July 19, 2018
जब हम अपनी आज़ादी का उपयोग जिम्मेदारी से करते हैं, तब हमें पता चलता है कि वास्तव में हम कुछ अलिखित नियमों तथा शर्तों से बंधे हुए है...
Sunday, July 15, 2018
भरी गर्मी और तपती दोपहरी से बचने के लिए आपने अपने कमरे में लगवाने के लिए नया एसी लिया है लेकिन आप अपना कमरा कितना ठंडा करेंगे इसका...
Friday, July 06, 2018
सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर रिपोर्ट तैयार, केंद्र सरकार से विधि आयोग ने की सिफारिश एजेंसी|नई दिल्ली विधि आयोग ने देश में जुए और क्...
Monday, July 02, 2018
टेलीविजन पर 'साफ नीयत सही विकास' के विज्ञापन को लगभग घूरते हुए पड़ोसी शर्मा जी बुदबुदाए- "हद है...क्या बकवास है। बंद करो इसे यार।"...

तीखी मिर्ची

संपादकीय कोना

मोदी सरकारी द्वारा नई शिक्षा नीति के मसौदे को तैयार करने के लिए गठित के. कस्तूरीरंगन कमेटी को हाल...

अविनाश चंद्रा's picture
Avinash

जनमत

क्या सरकार को निजी स्कूलों के दिन प्रतिदिन के प्रबंधन कार्य में हस्तक्षेप करना चाहिए?

आज़ादी प्रकाशन

कानून पथभ्रष्ट हो गया है! कानून – और, इससे संबंधित राष्ट्र की समस्त शक्तियां सामूहिक रूप से न केवल अपने वास्तविक मार्ग से विचलित हो गयी हैं बल्कि मैं तो कहूंगा कि वे सर्वथा विपरीत मार्ग पर बढ़ रही हैं! लोभ व लोलुपता की राह में रुकावट बनने की बजाए आज कानून समस्त प्रकार के लोभ की पूर्ति का उपकरण बन...

आर्थिक स्वतंत्रता सूचकांक