विशेष लेख

डेविड श्मिट्ज और जेसन ब्रेनन के आलेख “आज़ादी की अवधारणाएं” पर टॉम जी. पामर की प्रतिक्रिया

मेरी राय में इस चर्चा के लिए चुना गया प्रमुख निबंध “आज़ादी की अवधारणाएं” शिक्षाप्रद नहीं उकसाने वाला है। मैं पहले ही इस बात को स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि मैं डेविड श्मिट्ज को पसंद करता हूं, उनका सम्मान करता हूं और उनका प्रशंसक भी हूं, उनको मैं जानता हूं और उनसे मैंने कई सालों तक सीखा है। साथ ही हाल ही में ही मैंने मैकगिल यूनिवर्सिटी में जेसन ब्रेनन के साथ लेक्चर दिया

Published on 9 Apr 2010 - 16:23

आज़ादी का बड़ा मिथक

'आज़ादी' शब्द को लेकर एक आम मिथक है, एक ऐसा मिथक जिसको वामपंथियों ने ही नहीं, दक्षिणपंथियों ने ही नहीं, अनुदार, परिवर्तनवादी, आधुनिक उदारवादी और परंपरागत उदारवादी सभी ने खूब हवा दी। इस मिथक की शुरुआत एक विशिष्टता से होती हैः आज़ादी के दो मूल रुप होते हैं- नकारात्मक और सकारात्मक। नकारात्मक आज़ादी (negative liberty) का संबंध प्रतिबंधों, रुकावटों या बाधाओं से होता है। उदाहरण के लिए, एक व्यक्ति को संपत्ति की आज़ादी होती है- इसे नकारात्मक आज़ादी माना जाता है-अगर दूसरे उसकी

Published on 1 Apr 2010 - 15:12

संयुक्त राष्ट्र के विलुप्तप्रायः प्रजातियों के अंतरराष्ट्रीय व्यापार पर सम्मेलन में विलुप्तप्रायः प्रजातियों के अंतरराष्ट्रीय व्यापार पर रोक लगाने की मांग की गई है लेकिन दोहा के कतर में चल रहे 15वें सम्मेलन में इस मुद्दे पर निराशा ही दिखाई दे रही है। साइट्स (सीआइटीईएस) के महासचिव विलियम विंस्टेकर्स का कहना है

Published on 23 Mar 2010 - 18:38

ममता बनर्जी की नजर भले ही कोलकाता की 'राइटर्स बिल्डिंग' पर रही हो पर रेलमंत्री के तौर पर उन्होने अपना जो 'विजन' सामने रखा उससे कम से कम ऐसा लगा था कि वह रेलवे के बारे में बहुत ही संजीदगी से सोचती हैं। दिसंबर 2009 में जारी “विजन 2020 डॉक्यूमेंट” को ध्यान में रखते हुए उन्होंने कई प्रावधान किए हैं लेकिन रेल

Published on 26 Feb 2010 - 19:03

शिक्षा का सबसे असरदार ढंग यही है कि बच्चों को प्यारी चीजों के बीच में खेलने दिया जाए.”

- प्लेटो, महान ग्रीक दार्शनिक

नन्हें फूलों को अच्छे से खिलने पर जोर देते हुए यह कहा था प्लेटो ने। लेकिन मौजूदा परिस्थितियों पर

Published on 19 Feb 2010 - 12:52

क्लाइमेटगेट-1 ने यह खुलासा किया था कि ईस्ट एंजेलिया यूनिवर्सिटी में ग्लोबल वार्मिंग के खिलाफ जंग छेड़ने वाले जलवायु वैज्ञानिकों ने किस तरह से अपने खिलाफ जाने वाले आंकड़ों को रोककर शैक्षिक पत्रिकाओं में अपने खिलाफ आवाज उठाने वालों का गला घोंटने की कोशिश की थी। क्लाइमेटगेट-2 ने एक और सनसनीखेज खुलासा किया है कि जलवायु

Published on 25 Jan 2010 - 15:31

Pages