विश्व आर्थिक संकट के लिए जनकल्याणकारी राज्य जिम्मेदार –डॉ. टॉम पामर की पुस्तक' आफ्टर द वेलफेयर स्टेट ' का निष्कर्ष

आफ्टर द वेलफेयर स्टेट पुस्तक के संपादक डा.टाम पामर के मुताबिक आज के जनकल्याणकारी राज्य दुनिया में गहरा रहे - अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संकट और ऋण संकट जैसे दो बड़े आर्थिक संकटों के लिए सीधे जिम्मेदार है। इस  पुस्तक में पांच देशों  के अध्ययनकर्त्ताओं के जनकल्याणकारी राज्य पर निबंध हैं।

इस पुस्तक को  विश्व के मुक्त बाजार समर्थक थिंक टैंको के  सबसे बड़े एसोसिएशन एटलस नेटवर्क और व्यक्तिगत स्वतंत्रता के हिमायती और सरकार की भूमिका को सीमित रखने के लिए काम करनेवाले छात्र संगठन स्टूडेंट फार लिबर्टी ने प्रकाशित किया है।एटलस और एसएलएफ ने इस पुस्तक की 100000 कापियां उत्तरी अमेरिका 25000 कापियां यूरोप में वितरित की हैं।

इसमें जनकल्याणकारी राज्य के इतिहास और अर्थशास्त्र पर निबंध तो हैं ही उनके अलावा एथेंस विश्वविद्यालय के प्रोफेसर एरिस्टाइड हाटजिस ने अपने लेख में स्पष्ट किया है कि ग्रीक के वर्तमान संकट के बीज जन कल्याणकारी राज्य के पापुलिज्म में निहित  हैं।इटली के पत्रकार पियरकामिलो फेलास्का ने इटली में पांचवे दशक में किए मुक्त बाजार सुधारों के कारण हुए आर्थिक चमत्कार के बारे में बताया है जिनका हाल ही के वर्षों में जनकल्याणवाद के कारण ह्रास हुआ है।

ब्रिटेन के इतिहासकार डेविड ग्रीन और अमेरिका के डेविड बिएटो ने विस्तृत इतिहास देते हुए बताया है कि जनकल्याणकारी राज्य से पहले क्या था और किस तरह जनकल्याणकारी राज्य ने बड़ी संख्या  में स्वयंसेवी संगठनों को विस्थापित कर दिया।

स्वीडिश अर्थशास्त्री जोहान नोरबर्ग ने विवेचन किया है कि किस तरह अमेरिका में जनकल्याणकारी राज्य की नीतियों द्वारा हाऊसिंग का बुलबुला बनाया गया जो विश्व वित्तीय संकट का कारण बना।अमेरिकी नीति विशेषज्ञ माइकल टानर ने इस बात की व्याख्या की है कि सरकार की अनफंड़ेड लायेबलिटिज,कानूनी तौर पर आवश्यक खर्च खासकर पेंशन और स्वास्थ्यसेवा संबधी खर्च के लिए जरूरी राजस्व सरकार के पास नहीं है।अन्य दूसरे निबंधों में बताया गया है जनकल्याणकारी  कार्यक्रम गरीबी को गहरा और संस्थायीकृत कररहे  हैं। इसके साथ ही  राजनीतिक नियंत्रण की व्यवस्था के रूप में जनकल्याणकारी राज्य की राजनीति को भी रेखांकित किया गया है। यह पुस्तक प्राथमिक तौर पर और प्रमुख रूप से छात्र पाठकों के लिए है। इसमें शोध और अध्ययन करनेवालों के लिए काफी दस्तावेज हैं। कई छात्र संगठन कई देशों में इस मुद्दे पर चर्चा कर रहे हैं कि उस पुस्तक के विचारों का समकालीन घटनाओं पर क्या असर पड़ेगा। इस बारे में ज्यादा जानकारी Students forLiberty.org.पर उपलब्ध है।

आफ्टर द वेलफेयर स्टेट को AtlasNetwork.org/AWS से निशुल्क डाउनलोड किया जा सकता और किसी कार्यक्रम के लिए थोक आर्डर  भी दिए जा सकते हैं। डा़.टाम पामर और पुस्तक के अन्य लेखकों के साथ इंटरव्यू करने के लिए मैट वार्नर से संपर्क करें।

ज्यादा जानकारी के लिए संपर्क करें –
सेंटर फार सिविल सोसायटी
फोन – 91-11-2653-7456
ई-मेल: ccs@ccs.in