सोलर लैम्प से आया उजियारा

उड़ीसा के कटक जिले के कोचिनाल गाँव में सोलर लैम्प की सुविधा आ जाने से लोगों में बहुत उत्साह है. सालों से बिजली और पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं को तरसते यहाँ के ग्रामीण मिटटी के तेल वाले लैम्प का प्रयोग करते आ रहे थे. यहीं की रहने वाली सरिता बिसवाल इस वीडिओ में बता रही हैं कि केरोसीन लैम्प ग्रामीणों के लिए महंगा और असुविधाजनक साबित हो रहा था. तेज़ हवा और बरसात में भी ये लैम्प काम ना देता.

ऊर्जा के क्षेत्र में काम करने वाली संस्था टेरी ने 'सम्बन्ध' नामक एक स्थानीय एन जी ओ और एशियन डेवलपमेंट बैंक के साथ मिल कर यहाँ सोलर लैम्प लाने की शुरुआत की. ये लैम्प चार्जिंग स्टेशन से मुफ्त में चार्ज किये जा सकते हैं. इन लैम्प के आने से गाँव के लोगों को शाम के समय सुनिश्चित प्रकाश मिल जाता है और मिटटी के तेल पर खर्च होने वाले पैसे भी बचते हैं. साथ ही साथ पर्यावरण सुरक्षा के लिए भी ये एक अच्छा कदम साबित हुआ है.

साभार: इंडिया अनहर्ड