Indo Pak War

कुख्यात आतंकी ओसामा बिन लादेन अंततः मार डाला गया. आतंक की एक इबारत का समापन हुआ लेकिन तमाम संदेह और कयास अभी भी विद्यमान हैं. दुनियां थोड़ी चकित जरूर है लेकिन कहीं एक राहत की आस भी दिख रही है. लेकिन इन सबके बीच सबसे बड़ा सवाल ये खड़ा होता है कि यदि अमेरिका पूरी दुनियां में कहीं भी छुपे हुए अपने दुश्मनों को ढूंढ़ कर मार सकता है और अपनी धमक कायम कर सकता है तो भारत अपने निर्दोष नागरिकों की हत्याएं चुपचाप क्यों देखता फिर रहा है. पाकिस्तान ने ना जाने कितने भारतीयों को अपनी कायराना हरकतों से मौत की नींद सुला दिया और भारत ने बस केवल वार्ता की बात तक बात सीमित रखी. 1947 से लेकर आज तक पाक के मंसूबों में कोई बदलाव नहीं आया और वह लगातार अपनी निंदित हरकतों को अंजाम देता रहा.

Category: