government

यह जितना उत्साहजनक है कि अब सीबीआइ को भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे नौकरशाहों के खिलाफ जांच आगे बढ़ाने के लिए सरकारी मंजूरी का इंतजार नहीं करना पड़ेगा वहीं यह उतना ही निराशाजनक कि इसे उचित ठहराने के लिए सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ को आगे आना पड़ा।

मुझे नहीं लगता कि यह कहना अतिश्योक्ति होगा कि हमारा इतिहास, महंगाई और मुद्रा स्फीति का इतिहास रहा है। वह मुद्रा स्फीति जिसका सृजन आम तौर पर सरकार द्वारा सरकार के फायदे के लिए किया गया..
 
- फ्रैडरिक ऑगस्ट वॉन हायक  

एक बार की बात है। एक चमकदार और रंगीन फूलों से भरे घास के मैदान और उद्यानों के बीचोबीच स्थित एक पुराने पेड़ पर मधुमक्खियों का एक बड़ा छत्ता स्थित था। छत्ते में एक रानी मधुमक्खी थी, जिसे कुछ वरिष्ठ मधुमक्खियों के साथ छत्ते के संचालन के लिए चुना गया था। सामूहिक रूप से चयनित इस व्यवस्था को सरकार कहा जाता था। श्रमिक मधुमक्खियों को विश्वास था कि सरकार उनके द्वारा एकत्रित शहद का समुचित भंडारण करेगी और उनकी देखभाल करेगी। सरकार के उपर भी एक जिम्मेदारी थी कि वह नए नए उद्यानों की खोज करेगी ताकि मधुमक्खियों के बच्चों की आने वाली पीढ़ी के

सरकार और सरकारी एजेंसिया लोकहित, रोजगार सृजन और नैतिक जिम्मेदारी के निर्वहन के नाम पर किस प्रकार से काम करती हैं और उनका क्या हश्र हो सकता है? यह नीचे प्रस्तुत लघु कथा में वर्णित वाकए से स्पष्ट हो जाता है। इस लघु कथा के माध्यम से यह भी बताने की कोशिश की गई है कि महज इमानदारी से कार्य करने की जिम्मेदारी के निर्वहन भर से ही योजना सफल नहीं होती। सरकारी रोजगार गारंटी योजना के तहत भी कमोवेश यही हो रहा है... 

Category: 

 

Once upon a time there was a giant beehive. It was located on an ancient tree, situated amidst meadows and gardens filled with bright and colorful flowers.

Pages