होली

फाल्गुन (होली/होरी) की शुरूआत हो चुकी है। रंगभरी एकादशी के साथ अब फिजाओं में भंग, ठंडाई और रंग गुलाल की खुशबू तैरने लगी है। इस पूरे सप्ताह बनारस. बाबा धाम सहित शिव की नगरी की तो छटा ही निराली होती है।

Category: 

बीते रविवार को हम सब ने धूमधाम से लोहड़ी जलाई। इसी तरह होली के भी पहले लोग होलिका दहन करते हैं। आज के ग्लोबल वॉर्मिंग के दौर में त्योहारों के नाम पर क्या ऐसे रिवाज उचित हैं?