सरकार

चीजों महंगी नहीं हुईं हैं।पैसे की कीमत कम हो गई है क्योंकि सरकार ने जाली नोट छापना शुरू कर दिया है।

Category: 

अप्रैल 2012 से देश में लागू हो चुकी बारहवीं पंचवर्षीय योजना में स्वास्थ्य और शिक्षा जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में निजी सरकारी साझेदारी के तहत सुधार की संभावनाएं तलाशने की योजना को कम्प्यूटरीकरण के बाद स्वतंत्र भारत के सबसे बड़े क्रांतिकारी पहल के तौर पर देखा जाना चाहिए। इससे न केवल शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुधारात्मक प्रयासों को बल मिलेगा बल्कि देश की मेधा को वांछित स्वरूप भी प्राप्त होगा। देखा जाए तो आजादी के बाद देश ने रक्षा और तकनीकी क्षेत्र में तो काफी विकास किया लेकिन स्वास्थ्य व शिक्षा के मामले यह फिसड्डी ही रहा। रक्षा के क्षेत्र में विकास तो भारी भरकम बजट

कोयला खदानों के आबंटन को लेकर सीएजी की रपट संसद में पेश होने के बाद यूपीए सरकार कोयले की आंच में बुरीतरह  झुलस रही है। कोयले की दलाली में उसके केवल हाथ ही काले नहीं हुए वरन मुंह भी काला हुआ है।ऐसी छीछालेदार हो रही है कि ईमानदारी  के साक्षात अवतार माने जानेवाले प्रधानमंत्री भी कटघरे में खड़े हैं। वह भी छोटे –मोटे नहीं 1लाख 86 हजार करोड़ रूपये के । इस बार एक दिन में तीन सीएजी रपटे संसद में पेश हुई और सभी में सरकारी भ्रष्टाचार को उजागर किया गया है।इसके बाद हर बार की तरह सरकार और विपक्ष के बीच आरोपों और प्रति आरोपों का शीतयुद्ध शुरू हो गया । लेकिन गंभीर बात यह है कि

सरकार पर विश्वास करने से अर्थशास्त्र के नियम बदल सकते है यह सोचना टीक वैसा ही है जैसे हम सोचें कि हम भौतिक विज्ञान के नियम बदल सकते हैं।

Category: 

मैं चुटकुले नहीं बनाता ।मैं सरकार को काम करते देखता हूं और तथ्यों को लिख देता हूं। 

- विल रोजर्स
Category: 

बडे आकार में देखने के लिए चित्र पर क्लिक करें.

Category: 

बडे आकार में देखने के लिए चित्र पर क्लिक करें.

Category: 

बड़े आकार में देखने के लिए फोटो पर क्लिक करें

Category: 
  • सरकार एक काम बखूबी करती है – वह जानती है कि कैसे आपका पैर तोड़ा जाए और फिर वह आपको बैसाखी देती है और कहती है – यदि सरकार नहीं होती तो आप चल नहीं पाते।
  • युद्ध विशालकाय सरकार का एक कार्यक्रम होता है।
  • ऐसा क्यो लगता है कि सरकार सिर्फ एक ही चीज से हमारा संरक्षण करती है वह है हमारी आजादी से।
Category: 

Pages