शहद की चोरी

एक बार की बात है। एक चमकदार और रंगीन फूलों से भरे घास के मैदान और उद्यानों के बीचोबीच स्थित एक पुराने पेड़ पर मधुमक्खियों का एक बड़ा छत्ता स्थित था। छत्ते में एक रानी मधुमक्खी थी, जिसे कुछ वरिष्ठ मधुमक्खियों के साथ छत्ते के संचालन के लिए चुना गया था। सामूहिक रूप से चयनित इस व्यवस्था को सरकार कहा जाता था। श्रमिक मधुमक्खियों को विश्वास था कि सरकार उनके द्वारा एकत्रित शहद का समुचित भंडारण करेगी और उनकी देखभाल करेगी। सरकार के उपर भी एक जिम्मेदारी थी कि वह नए नए उद्यानों की खोज करेगी ताकि मधुमक्खियों के बच्चों की आने वाली पीढ़ी के