व्यंग्य

एक राज्य का नया वित्तमंत्री काकभुशुण्डजी से मिलने गया और हाथ जोड़कर बोला कि मुझे शीघ्र ही बजट प्रस्तुत करना है, मुझे मार्गदर्शन दीजिए. तिस पर काकभुशुण्ड ने जो कहा सो निम्नलिखित है:

पंखा न चलाए, तो मच्छर काटते हैं और चलाते हैं, तो ठंड लगती है

वह पहले प्यार में धोखा खाई लड़की की तरह अंदर अंदर घुटता है, मगर किसी को कुछ बताता नहीं है

 

Category: 

एक नेता मरने के बाद यमपुरी पहुँच गया वहां यमराज ने उसका भव्य स्वागत किया,यमराज ने कहा इससे पहले कि मैं आपको स्वर्ग या नरक भेजूं पहले मैंचाहता हूँ  कि आप दोनों जगहों का मुआयना कर लें कि आपके लिए कौन सी जगह ज्यादा अनुकूल होगी!

Category: 
  • पैसा सब कुछ नहीं होता,ज्यादातर तो वह काफी भी नहीं होता।
  • पैसे आप दोस्त नहीं खरीद सकते।लेकिन आप बेहतर वर्ग के दुश्मन जरूर पा सकते हैं।
  • पैसा छठी इंद्रिय है उसके बगैर आप बाकी पांचों इंद्रियों का पूरा इस्तेमाल नहीं कर सकते।
Category: 

उर्दू शायरी आमतौर पर इश्क प्यार की शायरी ही माना जाता है लेकिन उसमें कई रंग मौजूद हैं हैं ।उसमें हास्य व्यंग्य का रंग भरा है अकबर इलाहबादी ने ।अंग्रेज सरकार के मुलाजिम रहे अकबर इलाहबादी में अपने समय की विसंगतियों  पर खूब चुटकियां ली हैं ,फब्तियां कसी हैं जो हंसाती,गुदगुदाती और तिलमिलाती हैं।यही कारण है कि उनकी शायरी  जो भी उन्हें पढ़ता है उसकी जुबान चढ़ जाती हैं।उनकी- हंगामा है क्यों बरपा ,ठोड़ी सी जे पी ली है डाका तो नहीं डाला चोरी तो नहीं की है - बच्चे-बच्चे की जुबान पर रही है। यहां पेश हैं उनके हास्य व्यंग्य से सराबोर कुछ शेरों की पहली किस्त -

आदर्श विवाह सिर्फ अंधी बीवी और बहरे पति के बीच ही हो सकता है। 

शादी एक ऐसी प्रेमकहानी है जिसका नायक पहले अध्याय में ही मर जाता है। 

शादी से पहले आंखें पूरी तरह खुली रखनी चाहिए और शादी के बाद आधी मूंद लेनी चाहिए।

Category: 
  • किताबें देनेवाला मूर्ख होता है और लौटानेवाला महामूर्ख।
  • एक पुस्तक से चुराना चोरी होता है कई पुस्तकों से चुराना शोधकार्य।
  • किसी पुस्तक को पढ़ने के दो उद्देश्य होते हैं –उसका आनंद लेना और उसके बारे में शेखी बघारना।
Category: 
  • टीवी आंखों की चुइंगम है।
  • टेलीविजन ने साबित कर दिया कि लोग कुछ भी देख सकते हैं मगर एक दूसरे की तरफ नहीं देख सकते।
  • मैं रोजाना छह घंटे टीवी देखता हूं और कुछ अच्छा हो तो सात घंटे।
  • लास एंजिलिस में लोग कूड़ा बाहर नहीं फेंकते वे उुससे टीवी प्रोग्राम बनाते हैं।
Category: