लोग

हम बहुत ऊथल पुथल से ग्रस्त पड़ोसियों के बीच रह रहे हैं।

हमारे पश्चिमी मोर्चे पर, पाकिस्तान अपने अस्तित्व के संकट से जूझ रहा है। उसकी संवैधानिक संस्थाएं हमेशा एक दूसरे के साथ टकराव की स्थिति में रहती हैं। उसकी खुफिया एजंसी दादा बन गई है, उसका बहुत बड़ा हिस्सा पाकिस्तानी राज्य की वास्तविक  संप्रभुता के दायरे से बाहर है और तालिबान के नियंत्रण में है।

दक्षिण की तरफ श्रीलंका कई दशकों के गृहयुद्द से उबर रहा है और उस पर नरसंहार के गंभीर आरोप लग रहे हैं और वह निरंकुश शासन की तरफ बढ़ता जा रहा है।

विपक्षी दलों ने गुरूवार को खुदरा व्यवसाय में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के मुद्दे पर किसी प्रकार ‘बंद’ कराने में तो सफल रहें लेकिन छोटे दुकानदारों, जिनके हितों की रक्षा के नाम पर यह सब हुआ वे ही बहुराष्ट्रीय कंपनियों के उनके व्यवसाय पर कथित हमले का आशंका से अविचलित दिखें। टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में किराना दुकान संचालकों ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि वे बेरोजगार हो जाएंगे।

बडे आकार में देखने के लिए चित्र पर क्लिक करें.

Category: 

बड़े आकार में देखने के लिए फोटो पर क्लिक करें

Category: