टिकट प्रतीक्षा सूची

रेल प्रशासन एक बार फिर से अपनी घोषणा को लेकर चर्चा में है। यह चर्चा ट्रेनों, विशेषकर पूरब की ओर जाने वाली रेल गाड़ियों में सभी को सीट उपलब्ध कराने की घोषणा को लेकर है। इसके लिए रेल प्रशासन ने किसी भी ट्रेन में प्रतीक्षा सूची के तीन सौ से ज्यादा होने की दशा में दो अतिरिक्त कोच जोड़ने और सूची के सात सौ से अधिक होने पर विशेष ट्रेन चलाने की बात कही है। यही नहीं ट्रेन में वेटिंग की सीमा को 545 से बढ़ाकर एक हजार भी कर दिया गया है। यानि कि अब यात्रियों को लंबी प्रतीक्षा सूची के कारण टिकट रिग्रेट की परेशानी से जूझना नहीं पड़ेगा। अब सबको टिकट मिलेगा और सबको बर्थ भी मिलेगा।