गैरकानूनी

जब कानून, लोगों को अपने हिसाब से जीने के अधिकार से वंचित रखता है तब व्यक्ति के पास कानून तोड़ने के अतिरिक्त और कोई विकल्प नहीं रह जाता है...
 
- नेल्सन मंडेला