Government can't control price hike but a free market can, realizes BJP

राजनैतिक हितों व वोट बैंक के स्वार्थ के वशीभूत हो सियासी दलों द्वारा निजीकरण, मुक्त बाजार व पूर्ण प्रतियोगिता की स्थिति की चाहे जितनी अनदेखी व आलोचना की जाए। लेकिन वास्तविकता यही है कि महंगाई की समस्या का समाधान किसी सरकार के पास नहीं बल्कि स्वयं बाजार के पास ही होता है। यदि बाजार में पूर्ण प्रतियोगिता की स्थिति हो तो वस्तुओं/सेवाओं की कीमतों में उतरोत्तर कमी व गुणवत्ता में तुलनात्मक रूप से वृद्धि देखने को मिलती है। अर्थशास्त्र के इस सामान्य से नियम की न केवल अनदेखी की जाती है बल्कि लोगों के मन में बाजार को लेकर भ्रम भी पैदा किया जाता है।

हालांकि देश व दिल्ली प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी को यह बात धीरे धीरे ही सही अब समझ में आने लगी है। पार्टी मोबाइल सेवा के क्षेत्र में बाजार व प्रतियोगिता की देन (सस्ती कॉल दरें व बेहतर सुविधा) को देखते हुए बिजली के वितरण के क्षेत्र में भी प्रतियोगिता की स्थिति पैदा करने की बात पर रजामंद हो गई है। गत दिनों हुए जनाक्रोश रैली में बीजेपी नेताओं ने इस बात को खुलकर स्वीकार भी कर लिया। वरिष्ठ भाजपा नेता विजय गोयल ने तो मंच से इस बात की घोषणा तक कर दी। गोयल ने कहा कि यदि उनकी पार्टी की सरकार बनती है तो वह विद्युत वितरण के क्षेत्र में प्रतियोगिता की स्थिति पैदा करेंगे। उन्होंने आश्वासन दिया कि दिल्ली की सभी डिस्कॉम कंपनियों को सभी इलाकों में बिजली वितरण की अनुमति दी जाएगी। 

इसका मतलब साफ हुआ कि आने वाले दिनों में (यदि भाजपा सत्ता में आती है तो) दिल्ली में विद्युत वितरण के क्षेत्र में प्रतियोगिता बढ़नी तय है। इसका फायदा सीधे सीधे उपभोक्ताओं को ही प्राप्त होगा। बकौल विजय गोयल जिस प्रकार प्रतिस्पर्धा बढ़ने से मोबाइल सर्विस के क्षेत्र में स्थितियां बेहतर हुई हैं ठीक उसी प्रकार, बिजली वितरण के क्षेत्र में भी प्रतियोगिता बढ़ने से कीमतें घटेंगी। गोयल ने तो यहां तक कहा कि कीमतों में सीधे सीधे 30 फीसदी तक की कमी देखने को मिलेगी।

 

New Delhi: Opposing any further hike in power tariff, Delhi BJP Chief Vijay Goel on Sunday promised that multiple discoms will be allowed to supply power if his party wins in assembly polls later this year so that the rates go down drastically. Addressing a rally at Rohini area in West Delhi, Goel said BJP will launch a "massive" agitation if the rates were increased again.

"A massive agitation will be launched at the Ramlila Maidan if the power tariff is hiked again. We will not allow the rates to go up again," he said speaking at the "Akrosh" rally organised jointly by the BJP and various RWAs. Goel said allowing multiple power companies will help people choose their supplier which will also help in cutting tariff by at least 30 per cent. "Introducing portability of electricity connection will help cut the tariff. It will offer the consumer the option to choose from a bouquet of vendors competing against each other," he said.

Currently, three separate discoms supply power in Delhi in separate areas. The BJP chief promised to come out with a detailed plan to reduce and manage the power tariff in Delhi. Hike in power tariff is likely to become a major issue in the run up to the assembly elections slated to be held in November 2013. AAP's Arvind Kejriwal had already announced that his party would fight the Delhi Assembly polls focussing mainly on hike in electricity and water tariff. The power tariff in the city was hiked by 22 per cent in 2011 followed by five per cent hike in February 2012.

For more visit:

http://ibnlive.in.com/news/delhi-bjp-promises-to-allow-multiple-discoms-opposes-tariff-hike/388376-37-64.html