ब्लॉग

Wednesday, February 10, 2010

बीटी बैगन की खेती के मसले पर काफी बवाल हुआ. इस मसले पर हितों के जबरदस्त टकराव के बाद सरकार ने फिलहाल इसकी खेती की अनुमति देने के फैसले को टाल दिया है और कहा है कि हम इस पर शोध करेंगे. इस बहस के दौरान कई सवाल उठे. कुछ के जवाब खोजने की बात हुई, कुछ मसले अनसुलझे रहे और कुछ...

Friday, February 05, 2010

इतवार का दिन और दिल्ली में पुस्तक मेला, मुझे वैसे भी पढ़ने-लिखने का थोड़ा शौक रहा है, तो बस मैं पुस्तक मेले के लिए रवाना हो गया। मेरा ऑटो ज्यों ही एक रेड लाइट पर रुका, तो क्या देखता हूं फटेहाल एक किशोर हाथ में कुछ किताबें थामे एकदम मेरे सामने आ गया। उसके पास अरविंद अडिगा की  बूकर पुरस्कार प्राप्त व्हाइट टाइगर, चेतन...

Wednesday, February 03, 2010

आज दुनिया तेजी से सिकुड़ती जा रही है, और देश-प्रदेश की सीमाओं को विकास की राह में बाधा के रूप में नहीं खड़ा नहीं कया जा सकता. विश्व की तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्थाओं में भारत का शुमार हो रहा है, उसे भविष्य की महाशक्ति के तौर पर भी देखा जा रहा है...

Friday, January 29, 2010

पद्म पुरस्कारों के बारे में हम यह जानते और मानते हैं कि विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए भारत का नाम रोशन करने, देश के विकास में उल्लेखनीय योगदान या किसी भी क्षेत्र में देश को विशेष...

Friday, January 22, 2010

किसी भी केंद्रीय मंत्री का कोई भी बयान काफी मायने रखता है और उसके द्वारा कहे गए एक भी शब्द के बहुत मायने निकाल भी लिए जाते हैं। शायद इस बात का एहसास हमारे मंत्रियों को नहीं है, तभी तो केंद्रीय खाद्य एवं कृषि मंत्री शरद पवार के एक बयान के बाद चीनी के दाम आसमान छूने...

Thursday, January 21, 2010

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल ने मंगलवार को कहा कि स्कूल जाने वाले 22 करोड़ बच्चों में से सिर्फ 2.60 करोड़ बच्चे ही कॉलेज तक पहुंच पाते हैं । इसके लिए स्कूलों की कमी को प्रमुख समस्याओं में से एक माना गया है। सरकार ने इसे चिंता का एक बड़ा...

Friday, January 15, 2010

जब 1991 में भारत में उदारवादी नीतियों को आत्मसात किया गया तो कई तरह के कयास और आशंकाएं जताई गई थीं, लेकिन आज लगभग दो दशक की इस अवधि में भारत...

Wednesday, January 13, 2010

सूचना का अधिकार (आरटीआइ) कानून का उद्देश्य प्रशासनिक और सरकारी जवाबदेही को सुनिश्चित करना रहा है, और अगर लोकतंत्र का कोई अंग इससे अछूता रहता तो इससे इस कानून का उद्देश्य पूरा होता नजर नहीं आता था।

लेकिन आरटीआइ से जुड़ा एक...

Pages