लाइसेंस के बगैर पतंग उड़ाया तो 2 वर्ष की कैद, 10 लाख का जुर्माना

क्या आपको पता हैः एयरक्राफ्ट एक्ट 1934 के मुताबिक देश में पतंग और गुब्बारे बनाने, मरम्मत करने और उड़ाने के लिए लाइसेंस का होना अनिवार्य है। ये लाइसेंस ठीक वैसे हैं जैसे एयरक्राफ्ट को उड़ाने के लिए पायलट व उसके मरम्मत करने के लिए विशेषज्ञता वाले लाइसेंस की जरूरत होती है। निर्धारित लाइसेंस के बगैर पतंग अथवा गुब्बारे उड़ाने पर कम से कम 2 वर्ष की कैद और 10 लाख रूपए के जुर्माने का प्रावधान है। इस प्रकार, सभी देशवासी जाने-अनजाने कानून तोड़ने के अपराधी बन रहे हैं। आइए, इस अनुपयोगी कानून के समापन के लिए मिलकर आवाज उठाएं..