आज़ादी वी‌डियो

  •  

  •  

  • राजस्थान के करौली जिले में सड़क चौड़ा करने के नाम पर, सरकार ने इंदिरा आवास योजना के तहत गरीबों को मुहय्या कराये गए घर ही तोड़ दिए. इस वीडिओ में सुनीता कसेरा बता रहीं हैं कि पंचायत समिति के दफ्तर तक मार्ग सुलभ करने के लिए सरकार ने रास्ते में पड़ने वाली सड़क को चौड़ा करने का फैसला किया. पर इस बारें किसी को भी पूर्व में सूचना नहीं दी गयी

  • सरकारी शिक्षा प्रणाली की पोल खोलता हुआ, झारखण्ड के मधुपुर में एक सरकारी स्कूल महज़ एक शिक्षक के सहारे चल रहा है. मधुपुर की हरिजन कालोनी में चलने वाले इस प्राथमिक स्कूल में ११२ दलित बच्चे पढने आते हैं. इस वीडिओ में मुकेश रजक बता रहे हैं कि इन सब बच्चो को हर एक विषय पढ़ाने की ज़िम्मेदारी सुरेश चन्द्र मेहरा नामक एकमात्र शिक्षक की है.

  • उड़ीसा के कटक जिले के कोचिनाल गाँव में सोलर लैम्प की सुविधा आ जाने से लोगों में बहुत उत्साह है. सालों से बिजली और पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं को तरसते यहाँ के ग्रामीण मिटटी के तेल वाले लैम्प का प्रयोग करते आ रहे थे. यहीं की रहने वाली सरिता बिसवाल इस वीडिओ में बता रही हैं कि केरोसीन लैम्प ग्रामीणों के लिए महंगा और असुविधाजनक साबित हो रहा था. तेज़ हवा और बरसात में भी ये लैम्प काम ना देता.

  • झारखण्ड के सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की अनुपस्थिति पूरे देश में सब से ज्यादा आंकी गयी है. एक रिपोर्ट के अनुसार, 25 प्रतिशत के राष्ट्रीय औसत की तुलना में किसी भी एक दिन में झारखंड के 41.9 प्रतिशत शिक्षक क्लास में अनुपस्थित रहते हैं. राज्य में योग्य और समर्पित शिक्षकों की बहुत कमी है.

Pages