none

कानून बनाने का उद्देश्य क्या होता है और वास्तव में कानून क्या करता है, इस विषय को बेहद हल्के फुल्के किंतु सटीक ढंग से चित्रित किया है The Hindu अखबार के कार्टूनिस्ट सुरेंद्र ने.. अवश्य देखें और अपनी प्रतिक्रिया दें...
Category: 

जोनाथन बदरंग से मकानों के बीच की गलियों से होता हुआ आगे बढ़ा। उसने गौर किया कि गरीबों के से कपड़े पहने कुछ लोगों का समूह तीन बड़ी इमारतों के सामने खड़ा था। इन इमारतों के नाम ब्लॉक अ, ब्लॉक ब और ब्लॉक स थे। ब्लॉक अ, बिल्कुल खाली और बहुत ही बदहाल स्थिति में था। उसकी दीवारों की ईंटें गिर रही थीं, खिड़कियां टूटी हुई थीं और बची खुची खिड़कियों के शीशों पर गंदगी जमा थी। अगला दरवाजा ब्लॉक ब की इमारत का था। उसकी सामने की सीढ़ियों पर लगो जमा थे। इमारत की तीनों मंजिलों पर लोगों की चहल पहल थी। खिड़कियों और बालकनी से निकली हुई डंडियों पर धुले हुए कपड़े टं

 - सागर मानव के साथ बेस्ट स्टूडेंट कैटेगरी का संयुक्त अवार्ड भी किया अपने नाम

- लास्ट ऑन द एलिफैंट मेन ने भी जीते दो अवार्ड, बनी बेस्ट लॉंग डॉक्यूमेंट्री

...जोनाथन को पैदल चलते कई घंटे हो चुके थे लेकिन दूर-दूर तक ऐसा कुछ नजर नहीं आ रहा था जिससे पता चल सके कि आसपास किसी तरह का जीवन भी है। अचानक पास की झाड़ी में कुछ हिलने की आहट हुई। पीली धारीदार पूंछवाला एक छोटा सा जानवर झाड़ियों के बीच मुश्किल से नजर आ रह रास्ते से नीचे की ओर भागा। शायद एक बिल्ली थी। जोनाथन ने सोचा, क्या पता यही मुझे किसी बस्ती तक पहुंचा दे। जोनाथन ने घनी झाड़ियों के बीच कूद लगा दी।

 

Pages