रोजगार गारंटी

...जोनाथन को पैदल चलते कई घंटे हो चुके थे लेकिन दूर-दूर तक ऐसा कुछ नजर नहीं आ रहा था जिससे पता चल सके कि आसपास किसी तरह का जीवन भी है। अचानक पास की झाड़ी में कुछ हिलने की आहट हुई। पीली धारीदार पूंछवाला एक छोटा सा जानवर झाड़ियों के बीच मुश्किल से नजर आ रह रास्ते से नीचे की ओर भागा। शायद एक बिल्ली थी। जोनाथन ने सोचा, क्या पता यही मुझे किसी बस्ती तक पहुंचा दे। जोनाथन ने घनी झाड़ियों के बीच कूद लगा दी।

 

कई विद्वानों का मानना है कि भारतवासी भारत में रहकर वैसी कामयाबी हासिल नहीं कर सकते, जो विदेशों में पहुंचते ही उनको नसीब हो जाती है। इस बार न्यूयॉर्क में मुझे इस बात की सच्चाई का गहरा एहसास हुआ। जिस दिन यहां पहुंची एक पारसी दोस्त की बेटी की शादी में कानक्टीकट जाना हुआ और रास्ते में पता चला कि गाड़ी का ड्राइवर देसी था।

मुक्त बाजार व्यवस्था लोगों के बीच तालमेल और सहयोग को बढ़ावा देती है और उनका जीवन स्तर सुधारने में मदद करती है। दूसरी ओर, अगर अर्थव्यवस्था सरकार के हाथ में है तो यहां हमेशा कुछ ऐसे लोग होंगे जिन्हें सरकार से "खास फायदे" मिलते हैं। जो दूसरे लोगों को लूटते हैं और खुद लुटने से हमेशा बच जाते हैं।

 

- एलन बरिस

Category: