कंवल रेखी

टाई के बोर्ड ऑफ ट्रस्टी के पूर्व चेयरमैन कंवल रेखी इस वक्त भारत अमेरिकी वेंचर केपिटल फंड इन्वेंटस केपिटल पार्टनर्स के प्रबंध निदेशक हैं। अमेरिकी नागरिक कंवल ने 1997 में मिशिगन टेकनालॉजी यूनिवर्सिटी से बिजनेस और इंजीनियरिंग में पीएचडी की थी।

पुरा लेख पढ़ने के लिये उसके शीर्षक पर क्लिक करें।

अमेरिका की सिलीकॉन वैली और भारत के बैंगलूरू ने निश्चित ही मलेशिया के मल्टीमीडिया कॉरीडोर या टोक्यो बे के अत्याधुनिक आइटी पार्क की तुलना में जबरदस्त सफलता हासिल की है.

Author: 
कँवल रेखी

भारत के लोग स्मार्ट और सृजनात्मक होते हैं. उन्होंने यह साबित किया है कि वे परिश्रमी और मितव्ययी होते हैं. भारत की धरती को कई तरह की नेमतें मिली हुई हैं, जिनमें एक अच्छी जलवायु और ढेर सारे प्राकृतिक संसाधन शामिल हैं. इस देश का लोकतंत्र शानदार है जिसकी जड़ें बेहद मजबूत हैं और यहां का शासन कानून-सम्मत है. लेकिन अब सवाल यह है कि आज़ादी के 53 साल बाद भी भारत एक बेहद गरीब देश क्यों है?

Author: 
कँवल रेखी