कमेन्टरी - कंवल रेखी

कंवल रेखी

टाई के बोर्ड ऑफ ट्रस्टी के पूर्व चेयरमैन कंवल रेखी इस वक्त भारत अमेरिकी वेंचर केपिटल फंड इन्वेंटस केपिटल पार्टनर्स के प्रबंध निदेशक हैं। अमेरिकी नागरिक कंवल ने 1997 में मिशिगन टेकनालॉजी यूनिवर्सिटी से बिजनेस और इंजीनियरिंग में पीएचडी की थी।

पुरा लेख पढ़ने के लिये उसके शीर्षक पर क्लिक करें।

भारत के लोग स्मार्ट और सृजनात्मक होते हैं. उन्होंने यह साबित किया है कि वे परिश्रमी और मितव्ययी होते हैं. भारत की धरती को कई तरह की नेमतें मिली हुई हैं, जिनमें एक अच्छी जलवायु और ढेर सारे प्राकृतिक संसाधन शामिल हैं. इस देश का लोकतंत्र शानदार है जिसकी जड़ें बेहद मजबूत हैं और यहां का शासन कानून-सम्मत है. लेकिन अब सवाल यह है कि आज़ादी के 53 साल बाद भी भारत एक बेहद गरीब देश क्यों है?
 
Published on 20 Jan 2015 - 20:48

अमेरिका की सिलीकॉन वैली और भारत के बैंगलूरू ने निश्चित ही मलेशिया के मल्टीमीडिया कॉरीडोर या टोक्यो बे के अत्याधुनिक आइटी पार्क की तुलना में जबरदस्त सफलता हासिल की है. सिलीकॉन वैली के सफल उद्यमी

Published on 18 Sep 2009 - 12:20

1993 में लेखक इन्फोसिस के संस्थापक नारायणमूर्ति के साथ

भारत और चीनः राहें जुदा-जुदा

इक्कीसवीं सदी के पहले दशक में भारत की तेज और एकाएक उन्नती ने पूरी दुनिया को चौंका दिया। अधिकांश लोगों को पिछले तीन

Published on 11 Sep 2009 - 14:08

Pages