वैध बूचड़खानों की कमी से यूपी में मीट की भारी किल्लतः एक खबर

नोबेल पुरस्कार विजेता प्रख्यात अर्थशास्त्री मिल्टन फ्रीडमैन ने दशकों पहले कहा था कि, अधिकांश समस्याओं की जड़ सरकारी फैसलों के उचित नीति की बजाए अच्छी नियत के आधार पर लिया जाना होता है। फ्रीडमैन का यह कथन अब भी अत्यंत प्रासंगिक है। उचित नीति की बजाए जब महज अच्छी नियत के आधार पर फैसले लिए जाते हैं तो अधिकांश लोगों के लिए वे परेशानी का सबब बनते हैं। अवैध बूचड़खानों पर प्रतिबंध के कारण उत्तर प्रदेश में ऐसी ही स्थिति उत्पन्न हो गयी है। मांसाहारी खानों के शौकीन लोगों के साथ साथ जानवरों को भी परेशानी उठानी पड़ रही है..। इस समस्या को अत्यंत हल्के फुल्के ढंग किंतु प्रभावशाली तरीके से प्रस्तुत किया है जाने माने कार्टूनिस्ट पवन कुमार ने... यह कार्टून पवन जी के फेसबुक पेज से साभार उदधृत किया गया है...

- साभारः पवन कार्टून्स 

https://www.facebook.com/Pawantoon/

Category: